पूनम हत्याकांड: गिरफ्तारी के बाद ही खुलेगा आधीरात का राज

Thursday, September 15, 2016

;
भोपाल। राजधानी में डेंटल डॉक्टर बनने आई पूनम गौतम की मौत के मामले में उसी का पड़ौसी ड्रायवर सस्पेक्टेड है। लोगों ने उसे छत से भागते हुए देखा है लेकिन वो पिछले 2 दिन से फरार है। पुलिस उसकी तलाश कर रही है। गिरफ्तारी के बाद खुलासा हो पाएगा कि आधीरात को आखिर क्या हुआ था। 

मूलत: सीधी निवासी पूनम गौतम पिता वाचस्पति गौतम (22) एमआईजी-8, ऋषिपुरम फेस-1, मिसरोद में अपने भाई के साथ किराए के मकान में रहती थी। पूनम भाभा डेंटल कॉलेज में बीडीएस द्वित्तीय वर्ष की छात्रा थी। जबकि उसका भाई पढ़ाई करने के साथ ही मंडीदीप की फैक्ट्री में काम करता है। 8 सितंबर की रात उसकी नाईट शिफ्ट थी, इसलिए पूनम घर में अकेली थी। तभी चौथी मंजिल से गिरने से उसकी संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई थी। 

एसपी साउथ अंशुमान सिंह ने बताया कि पड़ताल में सामने आया कि बिल्डिंग की तीसरी मंजिल में रहने वाले सुनील माथुर को लोगों ने उस समय छत से उतरते हुए देखा था। वह अपनी पत्नी के साथ किराए से रहता है। घटना के दो दिन बाद से वह फरार है, जिसकी तलाश में पुलिस छापेमारी कर रही है। बताया जाता है कि छात्रा को उसने छत से फेंका है।
;

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

Popular News This Week