यूपी का यादव पुराण: पढ़िए अखिलेश यादव के बुझी आग भड़काने वाले बोले - क्लिक करें | No 1 Hindi News Portal of Central India (Madhya Pradesh) | हिन्दी समाचार

यूपी का यादव पुराण: पढ़िए अखिलेश यादव के बुझी आग भड़काने वाले बोले

Friday, September 16, 2016

;
लखनऊ। मियां मुलायम सिंह अपने कुनबे की कलह शांत नहीं करा पा रहे हैं। शुक्रवार को उन्होंने चाचा भतीजे को बिठाकर समझा दिया था कि अभी मैं जिंदा हूं और फैसले भी मैं ही करूंगा। आग ठंडी होती दिख रही थी कि एक टीवी चैनल से बात करते हुए अखिलेश ने फिर उसे भड़का दिया। आने वाले चुनाव के संदर्भ में कह डाला 'ये मेरी परीक्षा है तो टिकट भी मैं ही बाटूंगा।'

इंटरव्यू में अखिलेश ने कहा कि नेताजी ने ये फैसला लिया है कि गायत्री प्रजापति मंत्रिपरिषद में लौटेंगे। वो इसे स्वीकार करने के लिए तैयार हैं। आपको बता दें कि प्रजापति पर भ्रष्टाचार के आरोप हैं। अखिलेश ने ये भी बताया कि उन्होंने और मुलायम ने तय किया है कि पार्टी और सरकार के मामलों में किसी बाहरी की बात नहीं सुनी जाएगी और न ही दखलंदाजी बर्दाश्त की जाएगी। अखिलेश का निशाना अमर सिंह पर माना जा रहा है। 

चाचा को भतीजे की रार भी और सलाह भी
अखिलेश से जब ये सवाल किया गया कि उन्होंने शिवपाल के विभाग क्यों छीने, तो उन्होंने कहा कि कभी-कभी उम्र कम होने की वजह से जोश में फैसले लिए जाते हैं। अखिलेश ने उम्र का तकाजा बताते हुए कहा कि नौजवानों का फैसला कुछ ऐसा ही होता है। 

पद छिनने पर रिएक्शन तो देखा ही
अखिलेश यादव से जब ये सवाल किया गया कि क्या उन्हें प्रदेश अध्यक्ष पद से हटाने का बुरा लगा था, तो उन्होंने कहा कि इसका रिएक्शन तो आपने देखा ही होगा। आपको याद ही होगा अखिलेश ने पद छिनने के बाद फौरन शिवपाल के कुछ विभाग छीन लिए थे और कुछ बदल दिए थे। अखिलेश ने ये भी कहा कि नेताजी ने राष्ट्रीय अध्यक्ष होने के नाते मेरा पद छीना था। बेटा होने के नाते मेरा फर्ज है कि मैं उन्हें खुश रखूं। 

लोग जब नारे लगाते हैं, मैं हेडफोन लगा लेता हूं
अखिलेश ने कहा कि 'झगड़ा परिवार का नहीं, कुर्सी का है। उन्होंने कहा कि झगड़ा इस कुर्सी का है, जिसपर मैं बैठा हूं। अखिलेश ने कहा कि ये पद भी मांगा जाएगा और जिसे दिया जाएगा वो अच्छा होगा तो दे दूंगा।' इस दौरान अखिलेश ने शिवपाल के पक्ष में नारे लगने वाले सवाल पर अपने चाचा को नसीहत देते हुए कहा कि 'चाचा नारेबाजी करवाने वालों से सावधान रहें, क्योंकि लोग नारेबाजी करवाकर भाग जाते हैं।' अखिलेश ने कहा 'जब कोई मेरे खिलाफ नारे लगाता है तो मैं हेडफोन लगाकर गाने सुनता हूं।'

टिकट वितरण का अधिकार अपने पास रखूंगा
उन्होंने कहा ‘‘मैं तो कहता हूं कि मैं चाचा को सारे विभाग वापस दे दूंगा, लेकिन टिकट वितरण का अधिकार अपने पास रखूंगा, क्योंकि चुनाव में परीक्षा तो मेरी ही होनी है।’’ 

चाचा जानते हैं सिंघल को क्यों हटाया: अखिलेश
वरिष्ठ आईएएस अफसर दीपक सिंघल को मुख्य सचिव पद से हटाये जाने के औचित्य के सवाल पर मुख्यमंत्री ने कहा ‘‘चाचा (शिवपाल) भी जानते हैं, कि हमने उन्हें (सिंघल) क्यों हटाया। उन्हें लोगों को इस बारे में बताना चाहिये।’’ उन्होंने एक अन्य सवाल पर कहा ‘‘जो व्यक्ति शीर्ष पर होता है, वह बिल्कुल अकेला होता है।’’
;

No comments:

Popular News This Week