मप्र में अब नहीं लगेंगे अंत्योदय मेले

Thursday, September 8, 2016

भोपाल। मप्र में अब अंत्योदय मेलों का आयोजन नहीं होगा। शिवराज सरकार ने फैसला किया है कि अंत्योदय मेलों की श्रृंखला अब समाप्त कर दी जाएगी। इसके स्थान पर 'गरीब मेले' का आयोजन किया जाएगा। हालांकि दोनों मेलों में कोई अंतर नहीं होगा, बस फ्लैक्स पर लिखा नाम बदल जाएगा। ऐसा क्यों किया गया, इसका खुलासा मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने नहीं किया। मुख्यमंत्री आज होशंगाबाद जिले के बाबई में अंत्योदय मेले को संबोधित कर रहे थे।

माखनलाल चतुर्वेदी का घर भव्य स्मारक बनेगा 
श्री चौहान ने कहा कि बाबई में प्रख्यात कवि पंडित माखनलाल चतुर्वेदी के घर को भव्य स्मारक बनाया जायेगा। इस पर होने वाला खर्च राज्य सरकार उठायेगी। उन्होंने कहा कि बाबई में आईटीआई खोली जायेगी। मुख्यमंत्री ने 33 करोड़ 7 लाख रुपये के निर्माण कार्य का लोकार्पण और 12 करोड़ 76 लाख से अधिक के 19 कार्य का भूमि-पूजन किया। इस मौके पर विधानसभा अध्यक्ष डॉ. सीतासरन शर्मा, लोक निर्माण मंत्री श्री रामपाल सिंह, खाद्य प्र-संस्करण राज्य मंत्री श्री सूर्यप्रकाश मीणा, पूर्व मंत्री श्री सरताज सिंह, सांसद श्री राव उदय प्रताप सिंह और विधायक श्री ठाकुरदास नागवंशी भी मौजूद थे।

2 लाख गरीबों को मकान देंगे 
श्री चौहान ने कहा कि वर्ष 2018 तक प्रदेश में 2 लाख मकान बनाकर गरीबों को दिये जायेंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि नर्मदा नदी के दोनों किनारों पर एक-एक किलोमीटर पर फलदार पौधे लगाये जायेंगे। इसके लिये किसानों की सहमति ली जायेगी। उन्होंने कहा कि पवित्र नदी नर्मदा में अब सीवेज का पानी नहीं जाने दिया जायेगा। इसके लिये 1500 करोड़ की लागत से सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट लगाया जा रहा है।

किसानों की आमदनी दोगुनी हो जाएगी 
मुख्यमंत्री ने किसानों के हित की चर्चा करते हुए कहा कि आने वाले 5 वर्ष में प्रदेश में किसानों की आमदनी दोगुनी की जायेगी। उन्होंने बाबई फार्म पर उद्योग लगाने की बात भी कही।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं

Trending

Popular News This Week