लड़कों से मोबाइल पर बात कर रही थी, पिता ने गला घोंटकर नदी में फैंक दिया

Monday, September 19, 2016

जबलपुर। चरगवां में अंजली लोधी सुसाइड केस में नया मोड़ आ गया है। अब यह सुसाइड नहीं आॅनर किलिंग का मामला बन गया है। अंजली किसी लड़के से बात करती थी। पिता को इसका पता चल गया था, इसलिए गुस्से में आकर पिता ने अंजली की गला घोंटकर हत्या कर दी और फिर लाश को नर्मदा में फैंक दिया। 

पहले यह कहानी सामने आई थी 
पुलिस ने बताया कि बिजौरी निवासी अज्जू सिंह लोधी ने 13 सितंबर को थाने में शिकायत दर्ज कराई कि उसकी 13 वर्षीय बेटी अंजली घर से गायब है। मामला नाबालिग से जुड़ा होने की वजह से पुलिस ने अपहरण का प्रकरण दर्ज कर जांच शुरू की। जांच शुरू होते ही चौंकाने वाली जानकारी सामने आना शुरू हो गई। जांच में यह पता चला कि किशोरी घर से बाहर ही नहीं निकली। जब अंजली के पिता से कड़ाई से पूछताछ की गई तो यह बात सामने आई कि अज्जू सिंह ने शराब के नशे में पत्नी और बेटी के साथ मारपीट की थी। मारपीट के बाद पत्नी बाजार चली गई। पिता शराब के नशे में सो गया। इस दौरान अंजली ने घर में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। डर की वजह से उन्होंने अंजली की लाश बोरे में भरकर मालकछार के पास नर्मदा नदी में फेंक दी। लाश ऊपर नहीं आए इसके लिए उन्होंने बोरे में पत्थर डाल दिए।

फिर यह असलियत पता चली
अज्जू सिंह के बड़े भाई को शक था कि उसके छोटे भाई की बेटी किसी लड़के से बात करती है। बातचीत को रिकॉर्ड करने के लिए उसने अंजली के मोबाइल में कार्ड डाल दिया। जब बातचीत रिकॉर्ड हो गई तो उसने बातचीत अंजली के पिता को सुनाई। लड़के के साथ अपनी बेटी की बातचीत सुनकर अज्जू सिंह भड़क गया। उसने शराब पीकर पहले अपनी पत्नी के साथ मारपीट की। इसके बाद बेटी की भी पिटाई की। पत्नी जब बाजार चली गई तो अज्जू सिंह ने गला घोंट कर बेटी की हत्या कर दी। हत्या को छिपाने के लिए लाश नर्मदा नदी में फेंक दी।

फांसी की जगह से हुआ शक
जांच में यह बात सामने आई कि परिजन जिस जगह पर अंजली को फांसी पर लटकना बता रहे हैं, वहां पर उसके हाथ पहुंचना संभव नहीं है। इससे अनुमान लगाया जा रहा है कि अंजली का गला घोंटने के बाद उसे फांसी पर लटकाया गया होगा।

तीन दिन बाद भी नहीं मिली लाश
होमगार्ड के गोताखोर तीन दिन से अंजली की लाश की तलाश कर रहे हैं, लेकिन नर्मदा नदी में पानी अधिक होने की वजह से लाश नहीं मिल पाई है। होमगार्ड के गोताखोर मालकछार से लेकर झांसीघाट तक 6 किलोमीटर तक लाश की तलाश कर चुके हैं। लाश को तलाशने के लिए रविवार को बरगी बांध के गेट बंद कराए गए। इससे पानी में एक फुट की कमी आई है। सोमवार को और भी गेट बंद कराए जा रहे हैं, ताकि पानी कम होने से लाश मिल सके।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

Trending

Popular News This Week