कलेक्टर ने कराया स्टिंग आॅपरेशन, आरटीओ में रिश्वतखोरी - क्लिक करें | No 1 Hindi News Portal of Central India (Madhya Pradesh) | हिन्दी समाचार

कलेक्टर ने कराया स्टिंग आॅपरेशन, आरटीओ में रिश्वतखोरी

Wednesday, September 7, 2016

;
भिंड। कलेक्टर इलैया राजा टी ने आरटीओ में चल रही दलाली और रिश्वतखोरी के लिए खुद स्टिंग आॅपरेशन कराया और पहुंच गए छापामारी करने। यहां उन्होंने एक क्लर्क को सस्पेंड किया। मजेदार तो यह रहा कि आरटीओ में एक ऐसा क्लर्क भी काम करते हुए मिला जिसके खिलाफ खुद कमिश्नर परिवहन विभाग ने एफआईआर दर्ज कराई थी। आरटीओ की कृपा से वो अपनी ही कुर्सी पर जमा हुआ है। 

जनसुनवाई में एक युवक ने ड्राइविंग लाइसेंस बनाने के बदले रिश्वत मांगने की शिकायत कलेक्टर इलैया राजा टी से की। कलेक्टर ने दूसरे लड़के को भेजकर स्टिंग ऑपरेशन कराया। इसमें एक एजेंट ने न सिर्फ रुपयों की मांग की, बल्कि यह भी कहा कि बाबू काे यह रुपए देने पड़ते हैं। इसके बाद मंगलवार शाम को कलेक्टर खुद परिवहन ऑफिस पहुंच गए और बाबू रामलखन शर्मा को सस्पेंड कर दिया। 

कलेक्टर इलैया राजा टी शाम करीब चार बजे परिवहन कार्यालय में औचक निरीक्षण करने के लिए पहुंच गए। यहां कलेक्टर की गाड़ी को देखते ही एजेंटों के बीच भगदड़ मच गई। कुछ युवकों ने तो कलेक्टर के सामने ही दौड़ लगा दी। इस पर इनको रोका और पूछताछ की। इसके बाद कलेक्टर इलैया राजा टी ऑफिस के भीतर पहुंचे, यहां अनावश्यक रूप से घूम रहे लोगों से पूछताछ की। इन्होंने ऑफिस की सभी शाखाओं का निरीक्षण किया। वे सिर्फ 20 मिनट तक ही परिवहन ऑफिस में रुके। इस बीच बाबू रामलखन शर्मा को सस्पेंड कर गए। 

फर्जीवाड़े में एफआईआर दर्ज क्लर्क काम करते मिला 
वर्ष 2015-16 में चोरी की लग्जरी गाड़ियों के रजिस्ट्रेशन करने के आरोप में बाबू सत्यप्रकाश गोयल पर कमिश्नर के आदेश के चलते एफआईआर दर्ज हुई थी परंतु उन्हे सस्पेंड नहीं किया गया। जिला परिवहन अधिकारी टीपीएस भदाैरिया मेहरबानी बनाए हुए हैं। क्योंकि ग्वालियर क्राइम ब्रांच से एफआईआर दर्ज होने के बाद बाबू ने इसमें अग्रिम जमानत करा ली और न सिर्फ ऑफिस ज्वाइन कर लिया, बल्कि जिला परिवहन अधिकारी ने इसे दोबारा से पंजीयन शाखा की ही जिम्मेदारी दे दी। इस बाबू के खिलाफ कलेक्टर ने भी कार्रवाई के निर्देश दिए थे। 

मैंने कोई रिश्वत नहीं मांगी 
मैं सारे कागज पूरे होने पर ही आवेदन स्वीकार करता हूं। मैंने किसी से कोई रिश्वत नहीं मांगी। आज मुझे किन कारणों से सस्पेंड किया गया है, इसकी जानकारी नहीं है। 
रामलखन शर्मा, बाबू परिवहन कार्यालय भिंड 

मैंने दूसरे लड़कों को भेजकर एक स्टिंग कराया 
जनसुनवाई में कुछ लड़कों ने शिकायत की थी कि ड्राइविंग लाइसेंस बनाने के बदले बाबू रिश्वत मांग रहा है, मैंने दूसरे लड़कों को भेजकर एक स्टिंग कराया, जिसमें एजेंट ने भी बाबू रामलखन शर्मा का नाम लिया। उसके खिलाफ कई शिकायतें थीं। इसलिए रामलखन शर्मा को सस्पेंड कर दिया गया है। 
इलैया राजा टी, कलेक्टर भिंड 

बाबू ने दोबारा ऑफिस ज्वाइन किया, यह गलत है 
भिंड ऑफिस में गाड़ियों के फर्जी रजिस्ट्रेशन के मामले में मैंने ही एफआईआर कराई थी। बाबू सत्यप्रकाश ने दोबारा से आॅफिस ज्वाइन कर लिया है और उसे पंजीयन शाखा का प्रभार मिला है, यह तो बहुत गलत है। मैं कल (बुधवार को) ही इसका निराकरण करूंगा। 
डॉ. शैलेंद्र श्रीवास्तव, आयुक्त परिवहन मप्र 
;

No comments:

Popular News This Week