दमोह में महिला अधिकारी व क्लर्क रिश्वत लेते गिरफ्तार

Saturday, September 24, 2016

रमज़ान खान/दमोह। जिले में महीनों बाद फिर से रिश्वत लेने का मामला सामने आया है। शनिवार को सागर लोकायुक्त ने दमोह जिला पंजीयक कार्यालय में दविश देते हुए सहायक पंजीयक व लिपिक को रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया है। दोनों ने एक युवक से रजिस्ट्री की मूल प्रति देने के नाम पर 8 हजार रुपए रिश्वत की मांग की थी। लोकायुक्त ने दोनों को रंगेहाथ गिरफ्तार करते हुए रिश्वत की रकम जब्त करने के बाद अग्रिम कार्रवाई शुरु कर दी है। कार्रवाई लोकायुक्त निरीक्षक एचएल चौहान के नेतृत्व में की गई।

प्राप्त जानकारी के अनुसार दमोह जिला पंजीयक कार्यालय पर आज (शनिवार) को सहायक पंजीयक तथा लिपिक को 8000 की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया है। मामले में सागर लोकायुक्त टीम के निरीक्षक एच एस चौहान ने जानकारी देते हुए बताया है कि पंकज जायसवाल पिता विष्णु नारायण जायसवाल वैशाली नगर निवासी ने शिकायत की थी कि उन्होंने एक रजिस्ट्री कराई है। रजिस्ट्री में 16 लाख रुपए की रजिस्ट्री होने के बाद उनसे 0.5 परसेंट के हिसाब से रिश्वत मांगी जा रही है। पंकज ने मामले की जानकारी सागर लोकायुक्त को दी।

पीडि़त की शिकायत पर लोकायुक्त टीम ने पंकज को रिकॉर्डर दिया जिसमें सहायक पंजीयक और लिपिक की बातें ट्रैप की गईं। आज दोपहर 2 बजे के लगभग टीम ने छापा मारा पंजीयन कार्यालय में पदस्थ सहायक ग्रेड-2 सीताराम साहू की दराज से 8000 रुपए जब्त किए। पीडि़त पंकज जायसवाल ने बताया है कि वह पहले सहायक पंजीयक कमला सैनी के पास गया था। सैनी ने पंजक से बाबू सीताराम को रिश्वत देने कहा। तो उन्होंने सीताराम साहू को 8000 की रिश्वत दी। इसी बीच लोकायुक्त टीम ने दोनों को धरदबोचा।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


Popular News This Week

खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं