व्यापमं घोटाले के लिए जनता से माफी मांगिए: भाजपा नेता

Tuesday, September 27, 2016

;
भोपाल। व्यापमं घोटाले का भूत शिवराज सरकार के पीछे लगा ही रहता है। अब भाजपा नेता राजेश भदौरिया ने कहा है कि व्यापमं घोटाले के लिए शिवराज सरकार और भाजपा को जनता से माफी मांगना चाहिए। इसी के साथ व्यापमं घोटाले को लेकर बहस फिर शुरू हो गई है। याद दिला दें कि भाजपा के दिग्गज नेता अक्सर यह कहते आए हैं कि वो व्यापमं को घोटाला ही नहीं मानते। शिवराज सिंह इस मामले में खुद को व्हिसल ब्लोअर बताते हैं। 

भाजपा सांस्कृतिक प्रकोष्ठ के प्रदेश संयोजक एवं ग्वालियर के बिल्डर राजेश भदौरिया पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष नंदकुमार सिंह चौहान और संगठन महामंत्री सुहास भगत को चिट्ठी लिखी है कि कार्यसमिति की बैठक के प्रस्तावों में व्यापमं में भ्रष्टाचार और दलितों की उपेक्षा के प्रस्ताव को शामिल करें। पार्टी को व्यापमं महाघोटाले से प्रभावित ढेरों छात्रों और जनता से माफी मांगनी चाहिए, क्योंकि उन्हें काफी प्रताड़ना झेलनी पड़ी। भदौरिया ने मौजूदा नेतृत्व को भी कठघरे में रखा है। 

अगला मुख्यमंत्री दलित होना चाहिए
उन्होंने कहा कि आगामी विधानसभा चुनाव से पहले यदि प्रदेश की जनता बहुमत देती है तो अगला मुख्यमंत्री दलित वर्ग से हो। इन प्रस्तावों को भाजपा की 28 व 29 सितंबर को होने वाली प्रदेश कार्यसमिति की बैठक में रखा जाए। साथ ही इस पर चर्चा की जाए। भाजपा नेता की इस चिट्ठी के बाद पार्टी के भीतर तूफान ला दिया है है। 

ये चिट्ठी फर्जी है: नंदकुमार
बता दें कि भदौरिया भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष नंदकुमार सिंह चौहान के काफी नजदीकी माने जाते हैं। नंदकुमार मामले को संभालने की कोशिश कर रहे हैं। उन्होंने ऐसी किसी भी चिट्ठी से इनकार किया है। उन्होंने कहा, भदौरिया से मेरा सीधा संवाद है। अभी भी लगातार बात हो रही है। उन्होंने व्यापमं के प्रस्तावों जैसी कोई बात नहीं की। नंदकुमार ने भदौरिया के पत्र को भी फर्जी बताते हुए कहा कि वे इस बारे में जानकारी लेंगे। 

हां, मैंने चिट्ठी लिखी है: भदौरिया
भदौरिया ने कहा है कि यह खेदपूर्ण है कि भाजपा सरकार व्यापमं की नैतिक जिम्मेदारी लेना तो दूर बड़ी ही शर्मिंदगी से ऐसा दिखावा कर रही है कि कुछ हुआ ही नहीं। साथ ही जनता की गाढ़ी कमाई को पार्टी के भव्य आयोजनों पर पानी की तरह बहाया जा रहा है। इसीलिए मैंने व्यापमं और दलित वर्ग से जुड़े विषय पर पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष और संगठन महामंत्री को पत्र लिखा है। इतने विलंब से इस मसलों को उठाए जाने से जुड़े सवाल पर उन्होंने कहा कि जब समझ में आया तब, लिखा। 

आईआरएस अफसर पूनम की पोल खोल चुके हैं भदौरिया
रियल स्टेट से जुड़े भदौरिया इस समय भाजपा के सांस्कृतिक प्रकोष्ठ के प्रदेश संयोजक हैं। वो ग्वालियर के रहने वाले हैं लेकिन भोपाल में सक्रिय हैं। तीन साल पहले भदौरिया ने भारतीय राजस्व सेवा की अधिकारी पूनम राय के खिलाफ सीबीआई में शिकायत की थी। सीबीआई ने इस मामले में कार्रवाई की, जिसके बाद पूनम राय को केंद्रीय प्रत्यक्षकर बोर्ड ने निलंबित कर दिया। यह मामला अभी कोर्ट में विचाराधीन है। आरोप लगाया गया था कि यह डील पूनम के पति गणेश मालवीय ने भाजपा कार्यालय में बैठकर की थी। 
;

No comments:

Popular News This Week