62% भारतीय पाकिस्तान पर हमला देखना चाहते हैं

Tuesday, September 20, 2016

नईदिल्ली। दिल्ली में बैठी मोदी सरकार भले ही पाकिस्तान के खिलाफ सैन्य कार्रवाई की हिम्मत नहीं जुटा पा रही हो परंतु 62% प्रतिशत भारतीय एक बार में सारा किस्सा खत्म होते देखना चाहते हैं। आतंकवाद से तंग आ चुके भारतीय अब किसी भी कीमत पर इसे खत्म होते देखना चाहते हैं और इसके लिए सैन्य हमले को ही एकमात्र विकल्प मानते हैं। यह खुलासा अमेरिकी रिसर्च सेंटर की एक छानबीन में सामने आया है। 

अमेरिका के Pew रिसर्च सेंटर द्वारा कराए गए सर्वे के मुताबिक, 62 फीसदी लोग टेररिज्म का मुकाबला करने के लिए आर्मी की सख्त कार्रवाई चाहते हैं। 21 फीसदी लोग मानते हैं कि आर्मी की कार्रवाई टेररिज्म भड़काती है। वहीं, 52 फीसदी लोग आईएसआईएस को देश के लिए एक बड़ा खतरा मानते हैं। 68 फीसदी लोग मानते हैं कि भारत आज दुनिया में उससे कहीं ज्यादा अहम रोल निभा रहा है, जैसा वह दस साल पहले निभाता था।

Pew ने 7 अप्रैल से 24 मई के बीच ये सर्वे कराया। इसमें 2464 लोग शामिल हुए। इसमें आधे से ज्यादा लोग मानते हैं कि भारत की पाकिस्तान से पॉलिसी वक्त के हिसाब से बदलती रहती है, ये सही नहीं है। महज 22 फीसदी लोग ही भारत की पाक पॉलिसी को सही मानते हैं। वहीं 54 फीसदी बीजेपी और 45 फीसदी कांग्रेस सपोर्टर्स मोदी के पाकिस्तान नीति से इत्तेफाक नहीं रखते।

सर्वे का ये भी कहना है कि ज्यादातर भारतीय डिफेंस ताकत बढ़ाए जाने के पक्ष में हैं। 63 फीसदी भारतीय चाहते हैं कि देश की डिफेंस ताकत बढ़ाई जानी चाहिए। 6 फीसदी लोग डिफेंस में कमी करने की बात कहते हैं तो 20 फीसदी ने इसमें कोई बदलाव न करने की बात कही है। सर्वे में ये भी कहा गया है कि 2013 के मोदी के सत्ता संभालने के बाद लोगों का सैटिस्फेक्शन 36 फीसदी तक बढ़ा है।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं

Trending

Popular News This Week