शव के साथ 5 घंटे तक रेलवे लाइन पर बैठे रहे आक्रोशित ग्रामीण - क्लिक करें | No 1 Hindi News Portal of Central India (Madhya Pradesh) | हिन्दी समाचार

शव के साथ 5 घंटे तक रेलवे लाइन पर बैठे रहे आक्रोशित ग्रामीण

Tuesday, September 13, 2016

;
राजेश शुक्ला/अनूपपुर। रेलवे विभाग की लापरवाही के कारण मंगलवार की दोपहर 12:30 बजे अम्बिकापुर शहडोल ट्रेन से बिजुरी नगर के कोरजा गांव के पास के एक ही परिवार के दो लोग व उसके दो बैल कट कर मर गये। ज्ञात हो कि रेल्वे विभाग ने कोरजा गांव में रेल्वे फाटक को बंद कर अन्डरब्रिज का निर्माण किया था। अन्डर ब्रिज निर्माण में रेल्वे इंजीनियर की तकनीकी कमी व लापरवाही के कारण ब्रिज से पानी निकलने हेतु व्यवस्था नही की गई थी। 

अन्डरब्रिज से पानी निकासी न होने के कारण बरसात के मौसम मे अन्डर ब्रिज में करीब चार से पांच फिट पानी भर जाने के कारण लोगो को आने जाने में काफी कठिनाईयो का सामना करना पड़ता है। मजबूरन अपने कार्य हेतु गांव के लोगो को रेल्वे लाइन पार कर आना जाना पड़ता है। अन्डरब्रिज की समस्या के सम्बध में स्थानीय जनप्रतिनिधियो द्वारा रेल्वे विभाग को ज्ञापन देकर व समाचार पत्रों माध्यम से भी कई बार रेल्वे विभाग को जानकारी दी गई मगर रेल्वे विभाग इस गम्भीर समस्या पर ध्यान न देकर किसी ऐसे ही अनहोनी घटना का इंतजार कर रहा था। 

घटना के सम्बध में 13 सितम्बर को गांव का एक किसान दीन दयाल केवट पिता बिकनू केवट, उम्र लगभग 60 वर्ष व उसका लड़का श्याम केवट पिता दीनदयाल केवट उम्र 10 वर्ष जो खेत से  अपने दो बैल लेकर घर जा रहे थे तभी रेल्वे लाइन पार करते समय अचानक अम्बिकापुर-शहडोल ट्रेन आ जाने से उसके चपेट में आ गये। घटना की जानकारी गांव वालो को लगते ही सैकडो गावं वाले व बिजुरी नगर के स्थानीय जनप्रतिनिधियो द्वारा रेल्वे विभाग के प्रति जमकर आक्रोश व्यक्त करते हुए शव के साथ रेल्वे लाइन पर ही बैठकर घंटों रेल के आवागमन को बाधित कर दिया।  

घटना की जानकारी रेलवे विभाग व प्रशासन को लगने पर नायब तहसीलदार श्री उइके, नगर निरीक्षक महेन्द्र सिंह चौहान, स्टेशन मास्टर बिजुरी, रेल्वे का पुलिस अमला सहित कई लोग द्वारा धरने पर बैठे लोगो से चर्चा की गई मगर गांव वाले व पीड़ित परिवार धरने से उठने को तैयार ही नही हुए। रेल्वे विभाग के अधिकारियो द्वारा घटना की जानकारी रेल्वे के उच्च अधिकारी डीआरएम बिलासपुर को दी गई। डीआरएम  बिलासपुर मोबाइल के माध्यम से स्टेशन मास्टर बिजुरी के द्वारा गांव वालो से यह वायदा किया गया कि रेल्वे द्वारा सर्वप्रथम अन्डरब्रिज की समस्या को ध्यान देते हुए तत्काल उसके समाधान हेतु कार्य करेगी। 

रेल्वे डीआरएम के दिये गये आदेश के बाद ही आक्रोशित गांव वाले रेल्वे लाइन से हटने का निर्णय लिया व शव को पोस्टमार्टम के लिये जाने दिया। धरने स्थल पर गांव के सैकड़ो महिलाएं व पुरूष के साथ जनप्रतिनिधियो में भाजपा के वरिष्ठ नेता लवकुश शुक्ला, विधि विधाई प्रकोष्ठ के जिला संयोजक एड़ रमेश गुप्ता, बहुजन समाज पार्टी के प्रदेश महा सचिव खुर्शीद अहमद, मुकेश जैन, शिवचरन पुरी, मदन, संदीप अग्रवाल सहित कई जनप्रतिनिधि प्रशासन से सार्थक बातकर समस्या के समाधान हेतु सार्थक प्रयास करते रहे।
;

No comments:

Popular News This Week