शिवराज सिंह के कत्लखाने का विरोध तेज: 38 संस्थाएं, 800 से ज्यादा लोग मैदान में

Monday, September 5, 2016

;
भोपाल। अंतत: भोपाल में खुलने जा रही 'मांसमंडी' का मुखर विरोध शुरू हो ही गया। राजनैतिक स्तर पर मंत्री, सांसद एवं विधायक गण भी सामने आ गए हैं। इसके अलावा 38 संस्थाएं एवं अन्य अन्य कालोनियों के 800 से ज्यादा लोग सीएम शिवराज सिंह समर्थन एवं महापौर आलोक शर्मा द्वारा पल्लवित किए जा रहे 'भोपाल में अत्याधुनिक कत्लखाने' के विरोध में सड़कों पर आ गए हैं। संडे को कैंडल मार्च निकालकर इसका विरोध जताया गया। 

न्यू सुभाष नगर के रहवासियों ने 800 से अधिक लोगों के हस्ताक्षर के साथ अपनी आपत्ति दर्ज की। ग्रीन मिडोस के 35 रहवासियों ने आपत्ति दर्ज कराईं। शाम तक 38 संस्थाओं की आपत्तियां एसडीएम शहर के दफ्तर में आईं। सोमवार दोपहर 2 बजे सुनवाई एसडीएम प्रदीप शर्मा करेंगे। इसके बाद प्रस्ताव आवास एवं पर्यावास विभाग को भेजा जाएगा। ग्रीन मिडोस की रेणु भार्गव, एके खन्ना, रजनीश अबरोल और न्यू सुभाष नगर के महेश शाक्य के नेतृत्व में कैंडल मार्च में बड़ी संख्या में रहवासी शामिल हुए। 

बीच शहर में कत्लखाना किसी को मंजूर नहीं
निगम के प्रस्ताव पर प्रशासन नई आवंटित जगह से 50 मी. दूर जमीन तय करने जा रहा है। यह जगह मौजूदा स्लाटर हाउस से भी 50 मी. की दूरी पर ही है। प्रशासन ने पहले स्टड फार्म-खसरा नंबर 943 की 7 एकड़ जमीन तय की थी। आपत्ति भी मांगी गई थी। रविवार सुबह इसमें बदलाव कर इससे लगी हुई जमीन खसरा नंबर 961 की 7.23 एकड़ प्रस्तावित कर दी गई। अचानक हुए बदलाव के पीछे अफसरों का तर्क है कि निगम की तरफ से संशोधन प्रस्ताव आया था इसलिए लोकेशन बदली। जितनी जमीन निगम ने मांगी थी वो खसरा नंबर 961 में मौजूद है। 9 सितंबर तक जमीन पर निगम को कब्जा लेने के लिए कहा गया है। इसलिए दो दिन में दावे-आपत्ति का निराकरण करना है। 9 को जमीन की स्टेटस रिपोर्ट एनजीटी के सामने पेश होगी। 

सारंग ने लिखा पत्र 
जनभावनाओं को देखते हुए इस गंभीर मसले पर मैंने कलेक्टर को पत्र लिखा है। शहर में तो यह होना ही नहीं चाहिए। कोई भी बर्दाश्त नहीं करेगा। 
विश्वास सारंग, सहकारिता मंत्री 

जहां है उसी को ठीक किया जाए
जिस तरह से हमने पहले मुगालिया कोट में विरोध किया उसी तरह हम शहर में भी स्लाटर हाउस के खिलाफ हैं। मौजूदा स्लाटर हाउस का आधुनिकीकरण ही एकमात्र विकल्प है। 
रामेश्वर शर्मा, विधायक 
;

No comments:

Popular News This Week