जाम में फंसे शिवराज, 2 टीआई और 1 एसआई सस्पेंड - क्लिक करें | No 1 Hindi News Portal of Central India (Madhya Pradesh) | हिन्दी समाचार

जाम में फंसे शिवराज, 2 टीआई और 1 एसआई सस्पेंड

Monday, September 19, 2016

;
भोपाल। शहडोल में सीएम शिवराज सिंह चौहान की कार जाम में फंस गई। करीब 15 मिनट उन्हें यातायात से जूझना पड़ा। बस फिर क्या था, एसपी शहडोल ने टीआई को सस्पेंड कर दिया। कुछ ही देर पहले सीएम से हुई एक शिकायत पर कार्रवाई करते हुए एसपी ने 1 टीआई और 1 एसआई को सस्पेंड किया था। 

सीएम शिवराज सोमवार को शहडोल जिले के सिंहपुर में जनसभा को संबोधित करने पहुंचे थे। इस दौरान वो जब सभा स्थल से लौट रहे थे तो उन्हें एक दंपति ने रोक लिया। जयसिंहनगर थाना के कुबरा गांव निवासी गुप्ता दंपति ने सीएम से शिकायत की कि कुछ दिनों पहले उनके बेटे अभिनाश गुप्ता का शव लटका हुआ मिला था। दंपति ने आरोप लगाया कि उनके बेटे की हत्या करने के बाद उसके शव को फंदे से लटकाया गया है, इस बारे में उन्होंने पुलिस को भी बताया लेकिन वो मामले की आत्महत्या से जोड़कर ही जांच कर रहे हैं।

दंपति की बात सुनने के बाद सीएम ने वहां मौजूद एसपी सुशांत सक्सेना को मामला देखने के निर्देश दिए। जिसके बाद एसपी ने तुरंत कार्रवाई करते हुए जयसिंहनगर टीआई प्रफुल्ल राय और एएसआई बालेंद्र मिश्रा को निलंबित कर दिया।

जाम में फंसे सीएम, टीआई सस्पेंड 
जाम में फंसने के कारण मुख्यमंत्री को गुस्सा आया तो एसपी ने टीआई को सस्पेंड कर दिया। बताया जा रहा है कि सभा को देखते हुए सुरक्षा के काफी इंतजाम किए गए थे। फिर भी लौटने के दौरान एक जगह भीड़ अनियंत्रित हो गई और सीएम शिवराज को करीब 15 मिनट तक जाम में ही खड़े रहना पड़ा। इस बात से शिवराज सिंह चौहान बेहद नाराज हुए और उन्होंने एसपी पर अपनी नाराजगी जाहिर की। जिसके बाद एसपी सुशांत सक्सेना ने तत्काल प्रभाव से गोहपारू टीआई विजय गोठरिया को निलंबित कर दिया।
;

1 comment:

nadeem sheikh said...

Shivraj jaam me pahsy to ti or si ko saspend kardiya
Or shivraj ko chunne wali pablik ----
Jo roos jaam me pareshan hoti he-----
Offece jane me let hote he...
School jane me .....
Ambulens jaam me pahse se mareez jinki jaan bach sakti thi magar----
Sadko ke gaddy or dhool se swasth par prta pirbhav...

My best news portal bhopal samachar----

Popular News This Week