ना जननी आई ना 108, प्रसव पीड़ा से तड़प रही दलित गर्भवती माता की मौत

Friday, September 9, 2016

;
सिहोरा। यहाँ पर एक गर्भवती माँ और उसके गर्भस्थ शिशु की प्रसव से पहले ही मौत हो गई। जबकि प्रसव पीड़ा होने पर महिला के परिजनों ने कई बार जननी एक्सप्रेस बुलाने के लिए फोन किया लेकिन जननी नही पहुंची जिससे जच्चा-बच्चा दोनों की जननी नही आने के इंतजार में घर पर ही मौत हो गई।

सिहोरा थाना के ग्राम नांदघाट निवासी पंजी लाल कोल पिता शंकरलाल की पत्नि रजनी कोल (25वर्ष) अपने मायके बुधनवारा (बहोरीबन्द) जिला कटनी गयी हुई थी जहां पर रजनी को गुरुवार की रात 3 बजे प्रसव पीड़ा हुई। रजनी के पिता हीरालाल कोल ने जननी एक्सप्रेस बुलाने के लिए फोन लगाया लेकिन सुबह तक जननी नही पहुंची। जिसके बाद दर्द से कराहते हुए जच्चा बच्चा दोनों की मौत हो गई। पीड़ित परिजनों ने बताया की जननी एक्सप्रेस एवम् 108 दोनों में फोन लगाये लेकिन कोई वाहन उपलब्ध नही पाया। जिसकी वजह से इनकी मौत हो गई। 

सिहोरा से बुधनवारा गाँव की दूरी महज 20 किमी ही है लेकिन रात में कोई वाहन नही चलने के कारण यहां के ग्रामीणों को सरकारी वाहनों में ही आश्रित रहना पड़ता है या फिर सुविधानुसार अपने निजी वाहनों में लाना पड़ता है। बुधनवारा भले ही बहोरीबंद में आता है लेकिन यहां के क्षेत्रीय लोगों को सिहोरा अस्पताल ही सरल पड़ता है।
;

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

Popular News This Week