सुख और समृद्धि के लिए श्रीकृष्ण ने बताए ये टोटके - क्लिक करें | No 1 Hindi News Portal of Central India (Madhya Pradesh) | हिन्दी समाचार

सुख और समृद्धि के लिए श्रीकृष्ण ने बताए ये टोटके

Wednesday, August 24, 2016

;
महाभारत काल में युधिष्ठिर ने श्रीकृष्ण से प्रश्न किया था कि घर में सुख-समृद्धि का वास बना रहे इसके लिए क्या करना चाहिए। तब श्रीकृष्ण ने बताया था की कुछ ऐसी चीजें हैं जिन्हें हमेशा अपने घर में रखना चाहिए। जिस घर में ये चीजें हमेशा विद्यमान रहती हैं उस घर में धन और सुख अपना स्थाई निवास बनाकर रहते हैं। 

अपनी कमाई बढ़ाने के लिए 
प्रतिदिन घर के मंदिर में गाय के घी का दीप अर्पित करना और प्रसाद भोग लगाने से देवी-देवता आति शीघ्र अपनी कृपा बरसाते हैं। काफी किस्म का घी बाजार में आसानी से उपलब्ध होता है लेकिन गाय के दूध से बना घी ही देवी-देवताओं को अर्पण किया जाना चाहिए और घर में भी रखें। 
इसका वैज्ञानिक मत यह है कि गाय के घी का दीपक जलाने से घर में सकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह होता है और इसकी अग्नि से नकारात्मक ऊर्जा का विनाश होता है।  

कम कमाई में ज्यादा सेविंग के लिए 
कम कमाई में भी पैसा जोड़ना चाहते हैं तो अपने वॉश रूम में हमेशा एक बाल्टी पानी भर कर रखें। घर में मेहमान आने पर सबसे पहले उन्हें पानी दें ऐसा करने से अशुभ ग्रह शांत हो जाते हैं एवं शुभ फल देते हैं।

फिजूलखर्ची में कमी लाने के लिए 
वास्तुनुसार घर में जो भी नकारात्मक ऊर्जा होती है वह शहद की पॉजिटिव एनर्जी से मिल कर समाप्त हो जाती है। जिससे परिवार के सभी सदस्यों को फ़ायदा होता है इसलिए बहुत से घरों में इसे आवश्यक रूप से रखा जाता है। शहद को किसी साफ और सुरक्षित स्थान पर रखें। इससे घर में बरकत बनी रहेगी और फिजूल खर्चों में कमी आएगी। जिस घर में शुद्ध शहर की सुगंध उड़ती हैं वहां के निवासियों में फिजूलखर्ची की इच्छा ही मर जाती है। 

पाप कर्मों से बचने के लिए 
ज्योतिषाचार्य मानते हैं की सप्ताह वार के अनुसार तिलक लगाने से ग्रहों को अपने अनुकुल बनाया जा सकता है और उन से श्रेष्ठ एवं शुभ फलों की प्राप्ति की जा सकती है। चंदन तिलक को धारण करने का विशेष महत्व है। चंदन का तिलक शीतल होता है उसे धारण करने से पापों का नाश होता है। इसकी खुशबू से वातावरण में सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है। जो व्यक्ति शुद्ध चंदन का तिलक धारण करता है। उसका मन पापकर्मों से अपने आप विरक्त हो जाता है। यदि आप कामकाजी हैं और कार्यस्थल पर तिलक लगाकर जाना नहीं चाहते तो जितने समय अपने घर में रहते हैं, उतने समय तिलक धारण करें। 

विद्या, ज्ञान और बुद्धि के लिए 
विद्या, ज्ञान और बुद्धि की देवी मां सरस्वती के हाथों में सदा वीणा रहती है। पुराणों में मां सरस्वती को कमल पर बैठा दिखाया जाता है। कीचड़ में खिलने वाले कमल को कीचड़ स्पर्श नहीं कर पाता। इसीलिए कमल पर विराजमान मां सरस्वती हमें यह संदेश देना चाहती हैं कि हमें चाहे कितने ही दूषित वातावरण में रहना पड़े, परंतु हमें खुद को इस तरह बनाकर रखना चाहिए कि बुराई हम पर प्रभाव न डाल सके। घर में सदा देवी सरस्वती का रूप और वीणा रखें।

परिवार में प्रेम बनाए रखने के लिए 
जिस घर में बांसुरी रखी होती है वहां प्रेम और धन की कोई कमी नहीं रहती है। सामान्यत: घर में बांस की बांसुरी रखनी चाहिए। वास्तु के अनुसार इस बांसुरी से घर के वातावरण में सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है। 
;

No comments:

Popular News This Week