आजाद बलूचिस्तान में मोदी के नाम की सड़क बनेगी

Tuesday, August 16, 2016

;
नई दिल्ली। अगर बलूचिस्तान पाकिस्तान से आजाद हो जाता है, तो वहां की एक सड़क का नाम भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नाम पर होगा। इसकी घोषणा बलूची नेता हिरबायर मारी ने की है। हिरबायर ने कहा कि स्वतंत्र बलूचिस्तान में महत्वपूर्ण सड़कें और जगहों के नाम बदले जाएंगे। अभी बलूचिस्तान में जिन्ना रोड, फातिमा जिन्ना रोड, शहरा-ए-इकबाल, शहरा-ए-लियाकत पर सड़कों के नाम रखे गए हैं। बलूच नेता ने कहा इन सड़कों के नाम बलूच नेताओं, कार्यकर्ताओं और बलूचिस्तान के अंतरराष्ट्रीय दोस्तों के नाम पर कर देने चाहिए। इन दोस्तों में मोदी भी एक हैं। अन्य नामों अमेरिकी प्रतिनिधि दाना रोहराबशरस, अफगान के नेता हामिद करजई और अफगान के नेता अमरुल्लाह सालेह हैं। 

इसके आलावा उनका कहना है कि अन्य जगहों के नाम बलूचिस्तान की आजादी के लिए लड़ाई लड़ने वालों के नाम पर होगा। उनका कहना है कि बलूचिस्तान विवाद पाकिस्तान का आंतरिक विवाद नहीं है। उनके अनुसार पाकिस्तान विदेशी हमलावर है। यह 1948 से ही यहां के लोगों पर हमले कर रहा है। यहां के बच्चों और महिलाओं की हत्या कर रहा है। इसमें वो फाइटर जेट और बड़े हथियारों का खुलकर उपयोग करते हैं। हमलोगों ने पाकिस्तान का आधिपत्य कभी भी स्वीकार नहीं किया है। 

उन्होंने कहा कि ऐसे में संयुक्त राष्ट्र और अंतरराष्ट्रीय समुदाय को सहयोग करना चाहिए। हिरबायर ने बताया कि पाकिस्तान ने 30 सितंबर 1947 को यूनाइटेड नेशन ज्वाइन किया था लेकिन छह महीने बाद ही उसने यूएन के प्रावधानों का उल्लंघन कर दिया। उसने संप्रभु बलूचिस्तान पर हमला कर दिया। आपको बता दें कि बलूचिस्तान के नेता प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के उस बयान का स्वागत कर रहे हैं, जिसमें उन्होंने पाकिस्तान द्वारा बलूचियों के खिलाफ चलाए जा रहे दमन की बात कही थी। 
;

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

Popular News This Week