बड़वानी में बीमार छात्रा की मौत, छात्रावास अधीक्षिका सस्पेंड - क्लिक करें | No 1 Hindi News Portal of Central India (Madhya Pradesh) | हिन्दी समाचार

बड़वानी में बीमार छात्रा की मौत, छात्रावास अधीक्षिका सस्पेंड

Wednesday, August 3, 2016

;
बड़वानी। कलेक्टर तेजस्वी एस नायक ने कस्तूरबा बालिका छात्रावास बूदी की अधीक्षिका को बालिका के इलाज में लापरवाही बरतने पर तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है। वही मृत बालिका के परिजनो को तात्कालिक रूप से 10 हजार रुपये की आर्थिक सहायता उपलब्ध कराई है। साथ ही जिले के समस्त छात्रावासो-आश्रमो के अधीक्षकों को हिदायत दी है कि वे सुनिश्चित करेंगे कि संस्था में उनके बिना अनुमति के कोई खाद्य सामग्री नही आने पाये। 

कलेक्टर श्री तेजस्वी एस नायक ने बुधवार की सुबह कस्तूरबा बालिका छात्रावास बूदी (पाटी) की 12 वर्षीय कक्षा 7वीं की छात्रा कुमारी सेम्पू पिता माईटा भोगवड़े की मृत्यु पेट दर्द, दस्त से हो जाने पर उक्त छात्रावास एंव पाटी के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र का निरीक्षण करने के पश्चात् उक्त कार्यवाही की हैं। कलेक्टर के निरीक्षण के दौरान जिला पंचायत सीईओ श्री बी कार्तिकेयन, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. रजनी डाबर, एसडीएम बड़वानी श्री हृदयेश श्रीवास्तव भी उनके साथ थे।

निरीक्षण के दौरान कलेक्टर को उक्त छात्रावास की अधीक्षिका श्रीमती सिरू सस्ते ने बताया कि 31 जुलाई को छात्रा के पिता संस्था में आये थे। तब उन्होने छात्रा को सेव-परमल, टोस्ट तथा बेसन की बनी मिठाई दी थी। जिसे छात्रा ने अपनी पेटी में बंद कर रखा था एवं नियमित रूप से छिपकर उसका सेवन कर रही थी। 

उक्त छात्रा को 2 अगस्त को बुखार, सिरदर्द, पेट दर्द तथा दस्त की शिकायत होने पर वे बालिका को रात्रि में सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पाटी ले गये, जहां पर डाॅक्टर ने देखकर भर्ती किया एवं दवा प्रारंभ की। रात्रि 1 बजे बालिका द्वारा तबीयत सही होने तथा छात्रावास ले चलने की बात कहने पर उसे पुनः छात्रावास ले आये किन्तु प्रातः 5.30 बजे छात्रा को पुनः दस्त होने पर उसे सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र लेकर पहुंचे, तब डाॅक्टर ने उन्हे मृत घोषित कर दिया। 

प्रायवेट क्लिनिक करवाया सील
कलेक्टर श्री तेजस्वी एस नायक ने कस्तूरबा बालिका छात्रावास पाटी की बालिका को प्राथमिक उपचार की सुविधा उपलब्ध करने से इंकार करने वाले पाटी के प्रायवेट चिकित्सक श्री मुकेशचन्द्र जायसवाल के दवाखाना की जांच करने पर पाया कि उनकी चिकित्सक की डिग्री मानक स्तर की नही है। इस पर जहां उनका दवाखाना सील करवाया है। वही मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को कानूनी प्रावधान अनुसार कठोर कार्यवाही करवाने के भी आदेश दिये है।  

बालिका के पेटी में मिली सामग्री का भरवाया सैम्पल
कलेक्टर श्री तेजस्वी एस नायक ने कस्तूरबा कन्या छात्रावास पाटी की बालिका की पेटी में मिली खाद्य सामग्री की सैम्पलिंग भी फूड एण्ड ड्रग्स विभाग के निरीक्षको के माध्यम से करवाई है। जिससे जांच उपरांत ज्ञात हो सके कि इस खाद्य सामग्री की गुणवत्ता किस स्तर की थी। 

बिना अनुमति के संस्था में नही आयेगी खाद्य सामग्री
कलेक्टर श्री तेजस्वी एस नायक ने इस दुःखद घटना की पुनरावृत्ति न हो इसके लिए जिले के समस्त छात्रावास-आश्रमो के अधीक्षको को आदेशित किया है कि वे अनिवार्य रूप से सुनिश्चित करेंगे कि उनकी अनुमति या बिना जानकारी के कोई भी पालक अपने बच्चो को कोई भी खाद्य सामग्री न देने पाये। अगर उच्च अधिकारियो के निरीक्षण के दौरान संस्था के विद्यार्थियो की पेटी में कोई खाद्य सामग्री पाई जायेगी तो इसके लिए अधीक्षको को जिम्मेदार मानते हुए कार्यवाही की जायेगी। अतः सभी अधीक्षक संस्था में निवासरत विद्यार्थियो के सामान की एक बार तलाशी अनिवार्य रूप से ले। 

छात्रावासो-आश्रमो के पास की दुकानो पर बिकने वाली सामग्री की होगी सेम्पलिंग
कलेक्टर ने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. रजनी डाबर को भी आदेशित किया है कि वे अपने मताहत कार्यरत फूड एण्ड ड्रग्स विभाग के निरीक्षको के माध्यम से जिले के समस्त छात्रावासो-आश्रमो के पास संचालित हो रही दुकानो पर बिक रही खाद्य सामग्री की सेम्पलिंग का अभियान भी चलवाये। जिससे सुनिश्चित हो सके कि इन दुकानो पर मानक स्तर की ही खाद्य सामग्री की बिक्री हो रही है। 

इसके साथ-साथ कलेक्टर ने स्वास्थ्य विभाग को अगले दो दिनो में जिले के समस्त छात्रावासो-आश्रमो में रहने वाले विद्यार्थियो का स्वास्थ्य परीक्षण करवाने के भी आदेश दिये हैं। 
;

No comments:

Popular News This Week