होशंगाबाद में युवती को चाकू मारकर जिंदा जलाया - क्लिक करें | No 1 Hindi News Portal of Central India (Madhya Pradesh) | हिन्दी समाचार

होशंगाबाद में युवती को चाकू मारकर जिंदा जलाया

Tuesday, August 2, 2016

;
भोपाल। होशंगाबाद जिले के सिवनी मालवा तहसील के ग्राम हिरनखेड़ा में एक युवती को चाकू मारकर घायल किया और दर्द से कराह रही युवती पर तेल डालकर जिंदा जला दिया। वारदात युवती के घर में हुई, जबकि आरोपी उसका पड़ौसी युवक है। यह मामला आॅनर किलिंग की ओर भी इशारा कर रहा है। 

थाना प्रभारी ए.के. श्रीवास्तव और एफएसएल टीम के जांच कर लेने के बाद शव को पोस्टमार्टम के लिए सामुदायिक स्वास्थय केंन्द्र भेजा गया। जहां महिला चिकित्सक कांति भास्कर एंव डा. जी.आर. करोड़े ने पोस्टमार्टम किया। डाक्टरों ने बताया कि युवती का शरीर पूरी तरह से जल चुका है लेकिन उसे जलाए जाने से पहले चाकू जैसे किसी धारदार हथियार से उसे घायल किया गया था। लडक़ी के पिता श्रीराम ने बताया कि में और मेरी पत्नी सुबह ग्राम में निकलने वाली राम फेरी में गए थें। वापस आकर देखा तो लकड़ी जली हुई आँगन में पड़ी थी।

चाकू छुरी दिखाता था इसलिए में मरी
थाना प्रभारी ए.के. श्रीवास्तव ने बताया कि मौके पर एक सुसाइड नोट मिला है जिसमें लिखा था, कि घर के पास ही रहने वाला राकेश चाकू छुरी दिखाता था इसलिए में मरी हूँ। जिसके चलते पूछताछ के लिए ग्राम के राकेश साहू को थाने लाया गया है जो गल्ला खरीदी सहित किराने की दुकान का व्यवसाय करता है।

घटनास्थल पर खाली पड़ी थी केरोसिन की कुप्पी
घटनास्थल पर उपस्थित पुलिसकर्मीयों ने बताया कि घटनास्थल पर 5 लीटर की करोसिन की कुप्पी पड़ी हुई थी। वहीं लडक़ी के बदन पर सारे कपड़े चिपक गए थे। जिन्हें डाक्टरों ने भी पीएम के समय बमुश्किल निकाले थें।

सुसाइड नोट की राइटिंग मिलान से होगा खुलासा
मृतिका लडक़ी आरती कक्षा दसवी ग्राम के ही शासकीय स्कूल से पास है, जिसके चलते पूरा मामला सुसाइड नोट की जांच पर टिक गया है कि आखिर पढ़ी लिखी लडक़ी ने इतने शार्ट में नोट क्यों लिखा। सुसाइड नोट से मृतिका लडक़ी की राइटिंग का मिलान करने के बाद ही स्पष्ट हो पाएगा कि मामला आत्महत्या हा है या फिर आॅनर किलिंग का।

आॅनर किलिंग क्यों
ईटीवी ने एक वीडियो जारी किया है। जिसमें युवती के शरीर से धुआं निकल रहा है और उसके परिवारजन कुछ दूरी पर खड़े हुए सबकुछ देख रहे हैं। सवाल यह है कि परिजन उसे बचाने की कोशिश क्यों नहीं कर रहे थे। अधनंग पड़ी युवती का शव परिवार के सामने धधक रहा था और परिवार ने ना तो आग को बुझाने का प्रयास किया और ना ही उस पर कपड़ा ही डाला। 
;

No comments:

Popular News This Week