भोपाल की सड़कों पर सनी लियोनी, कैटरीना और सोनाक्षी समेत दर्जनों... - क्लिक करें | No 1 Hindi News Portal of Central India (Madhya Pradesh) | हिन्दी समाचार

भोपाल की सड़कों पर सनी लियोनी, कैटरीना और सोनाक्षी समेत दर्जनों...

Saturday, August 20, 2016

;
भोपाल। आज भोपाल की सड़कों पर सनी लियोनी, कैटरीना कैफ, करीना कपूर और सोनाक्षी सिन्हा जैसी बॉलीवुड की फेमस एक्ट्रेस के गेटअप में निकले किन्नरों को देखने के लिए सड़कों पर भारी बारिश के बावजूद लोगों को हुजूम उमड़ पड़ा। अवसर था किन्नर समुदाय के पारंपरिक भुजरिया मिलन समारोह और जुलूस का। देश भर से आए किन्नर ठुमके लगाते हुए निकले। 

नवाबी काल में पड़ा था अकाल
यह परंपरा नवाबी काल से चली आ रही है। कुछ लोग इसे राजा भोज के समय से भी जोड़ते हैं। हालांकि, बदलते दौर में किन्नरों पर अब बॉलीवुड का असर देखने को मिलने लगा है। कहते हैं भोपाल में बहुत साल पहले नवाबों के समय में अकाल पड़ा था। उस वक्त यहां रहने वाले किन्नरों ने मंदिरों और मस्जिदों में जाकर बारिश के लिए दुआ की थी और भुजरिया पर्व मनाया था। उनकी दुआ रंग लाई और भरपूर बारिश हुई थी। तब से लगातार भोपाल में किन्नर हर वर्ष बड़े स्तर पर भुजरिया पर्व का आयोजन करते आ रहे हैं।

भुजरिया मनाने के लिए नवाब ने दिया था लाइसेंस
रक्षाबंधन के बाद राजधानी में किन्नर भुजरिया जुलूस निकालते हैं। यह परंपरा नवाबी शासन के समय से चली आ रही है। जुलूस निकालने के लिए इनको लाइसेंस भी प्राप्त है। जुलूस मंगलवारा, बुधवारा, तलैया, चौक बाजार, पीरगेट, रायल मार्केट होते हुए लालघाटी पहुंचता है, जहां भुजरियों का विसर्जन होता है। किन्नरों की माने तो राखी के बाद भुजरिया मनाने के लिए नवाब ने लाइसेंस दिया था, जो आज भी उनके पास है। इस दिन हम सज-धज कर बाजार में निकलते हैं, जिसमें शहरवासी शामिल होते हैं।

देश के कौने कौने से आए किन्नर
जुलूस में शामिल होने के लिए मध्य प्रदेश के भोपाल, इटारसी, गुना, इन्दौर, उज्जैन तथा अन्य शहरों के किन्नर भी आए थे। मुख्य किन्नर सिर पर भुजरिया रखकर आगे चल रहे थे। वहीं, साथी किन्नर नाच-गाकर भुजरिया का जश्न मना रहे थे। इन्हें देखने के लिए लोगों का हुजूम उमड़ पड़ा था। कोई इनकी फोटो ले रहा था, तो कोई वीडियो बनाने में व्यस्त था।

तीन ग्रुपों में बांटा जुलूस
भुजरिया पर्व को धूमधाम से मनाने के लिए किन्नरों ने तीन गुट बनाए थे। बुजुर्गों के दो गुटों ने अपने सिर पर भुजरिया उठा रखी थी। तीसरा युवा ग्रुप आगे-आगे नाचते-गाते चल रहा था। व्यवस्था बनाने के मकसद से पुलिस का खासा इंतजाम किया गया था।
;

No comments:

Popular News This Week