महाराष्ट्र के किडनी ट्रांसप्लांट कांड का कनेक्शन बालाघाट में भी

Saturday, August 13, 2016

सुधीर ताम्रकार/बालाघाट। मुंबई के एलएच हीराचंदानी अस्पताल में विगत दिनों उजागर हुये किडनी ट्रांसप्लांट से जुडे रेकेट के तारों का कनेक्शन बालाघाट में भी मिला है। अस्पताल के सीईओ सुजीत चटर्जी के साथ बालाघाट निवासी विजेन्द्र बिसेन एवं किडनी टांसप्लांट कोआडिनेटर निलेश कामले से पूछताछ में इस गौरखधंधे से जुडी अनेक जानकारियां पुलिस को मिली।

महाराष्ट पुलिस ने विजेन्द्र बिसेन के संबंध में जानकारी हासिल करने हेतु मध्यप्रदेश पुलिस से भी संपर्क किया। विजेन्द्र बिसेन से पूछताछ में ज्ञात हुआ है कि उसने अबतक कई मरीजों के फर्जी दस्तावेज बनवाकर किडनी टांसप्लांट करवाई है। यह उल्लेखनीय है कि मुंबई के पवई स्थित हीराचंदानी अस्पताल नेशनल एक्रीडिएशन बोर्ड आफ हास्पिटल से मान्यता प्राप्त अस्पताल है।

जुलाई माह में एक शिकायतकर्ता मरीज ने अस्पताल प्रबंधन को अवगत कराया की किसी दानदाता की पहचान बदलकर उसकी किडनी किसी ओर को दी जा रही है पुलिस ने मामले पर त्वरित कार्यवाही करते हुये 15 जुलाई को  4 लोगों को गिरफ्तार किया था ये लोग 10 हजार रूपय में किडनी खरीदकर डाक्टर 30 लाख रूपये में बेचते थे।

किडनी रैकेट का शिकार हुये 26 वर्षीय रोशन जगताप ने पुलिस को अवगत कराया की हीराचंदानी अस्पताल में उसकी मां शेला जगताप 50 वर्ष की किडनी टांसप्लांट की गई थी लेकिन आपरेशन के 3 दिन बाद ही डॉक्टरों ने यह कहाकर किडनी निकाल ली की उनकी मां का लगाई किडनी उनके शरीर से मैंच नही हो रही है।

पुलिस ने अब तक मिली जानकारी के आधार पर सीईओ सुजीत चटर्जी मेडिकल डायरेक्टर अनुराग नाईक डॉ. मुकेश शाह, डॉं मुकेश शेटे तथा डॉ प्रकाश शैठी, विजेन्द्र बिसेन सहित 13 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

CHOOSE YOUR FAVOURITE NEWS CATEGORY | कृपया अपनी पसंदीदा श्रेणी चुनें


Popular News This Week

खबरें जो आज भी सुर्खियों में हैं