मप्र: राजधानी में प्रवेश के सभी रास्ते बंद, पानी की पानी - क्लिक करें | No 1 Hindi News Portal of Central India (Madhya Pradesh) | हिन्दी समाचार

मप्र: राजधानी में प्रवेश के सभी रास्ते बंद, पानी की पानी

Sunday, August 7, 2016

;
भोपाल। लगातार तीसरे दिन भारी बारिश के चलते भोपाल पहुंचने के लगभग सभी रास्ते बंद हो गए हैं। रायसेन, विदिशा, सीहोर, होशंगाबाद एवं राजगढ़ से आने वाले सभी मार्गों पर पानी ही पानी भरा हुआ है। यहां पुलों के ऊपर से पानी गुजर रहा है। जाम लगा हुआ है। 

भोपाल में शनिवार की रात से जारी बारिश का दौर संडे शाम तक जारी है। दोपहर में इससे कुछ राहत मिली है। रात को हुई बारिश से कई सड़कों पर पानी भर गया है। रविवार को होने के कारण सड़कें भी सूनी रही।

होशंगाबाद में नर्मदा नदी का सेठानी पर 946 फीट जलस्तर है जबकि यहां खतरे का निशान 967 फीट है। इटारसी में तवा डेम के 13 गेट 7-7 फीट की ऊंचाई तक खुले हैं। रात से ही ये गेट खुले हैं जिससे होशंगाबाद नर्मदा नदी का जलस्तर बढ़ने की संभावना है।

तवा डेम के गेट खोलकर एक लाख 66 हजार क्यूसेक पानी छोड़ा जा रहा है। वहीं सारणी में भी सतपुड़ा बांध के छह गेट 4-4 फीट ऊंचाई तक खोल दिए गए हैं। इनसे 20 हजार 400 क्यूसेक पानी छोड़ा जा रहा है। इनके कारण पुनर्वास केंद्र चौपना और लोनिया पंचायत के कई गांवों का शहर से संपर्क टूट गया है।

विदिशा जिले में लगातार बारिश के कारण अशोक नगर मार्ग बंद हो गया है। बेतवा नदी उफान पर है और उसके पुल के काफी ऊपर पानी बह रहा है। जिले संजय सागर बांध और सगढ़ बांध के दो-दो गेट खोल दिए गए हैं।

सागर जिले में लगातार बारिश हो रही है। सागर में धसान नदी उफान पर है। शहर को बीना और भोपाल-विदिशा को जोड़ने वाले रास्ते बंद हो गए हैं। बीना में बीना और बेतवा नदी उफान पर होने से जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। दोपहर में करीब दो घंटे तक लगातार बारिश से सड़कें पानी में डूब गईं।
;

No comments:

Popular News This Week