जैनमुनि विवाद: माफी मांगने के बाद भी केजरीवाल के खिलाफ विरोध जारी - क्लिक करें | No 1 Hindi News Portal of Central India (Madhya Pradesh) | हिन्दी समाचार

जैनमुनि विवाद: माफी मांगने के बाद भी केजरीवाल के खिलाफ विरोध जारी

Monday, August 29, 2016

;
नई दिल्ली। जैनमुनि तरुण सागर विवाद में फंस गए संगीतकार विशाल डडलानी और अरविंद केजरीवाल की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रहीं हैं। विशाल ने तो राजनीति से ही सन्यास ले लिया जबकि केजरीवाल ने खुद आगे बढ़कर माफी मांग ली, लेकिन उनके खिलाफ प्रदर्शन का दौर जारी है। जैन समाज विशाल की गिरफ्तारी की मांग कर रहा है। 

संत समाज के लोगों की मांग है कि माफ़ी से काम नहीं चलेगा, विशाल डडलानी समेत हर उस शख्स की गिरफ्तारी हो, जो इस तरीके से जैन मुनि का अपमान कर रहा है। प्रदर्शनकियों ने केजरीवाल के घर के बाहर जमकर नारेबाजी की और विशाल ददलानी की गिरफ्तारी की मांग की।

जैन मुनि से माफी मांगने चंडीगढ़ पहुंचे सत्येंद्र जैन
वहीं इस मामले में केजरीवाल सरकार में मंत्री सत्येंद्र जैन ने आज चंडीगढ़ में जैन मुनि तरुण सागर से मुलाकात की और ददलानी के बयान पर माफी भी मांगी। मुलाकात के बाद सत्येंद्र जैन ने कहा, ‘’मुनि जी ने माफ़ कर दिया है और अब इस मुद्दे को खत्म करना चाहिए। इस मुद्दे पर हो रहे प्रदर्शनों और ददलानी पर कार्रवाई की मांग को सत्येंद्र जैन ने राजनीति बताया है। कहा कि समाज सहिष्णु है लेकिन राजनीति की कोई सीमा नहीं है।

सत्येंद्र जैन ने कहा, ‘’दिल्ली विधानसभा में मुनी जी के प्रवचन के कार्यक्रम के बारे में अभी कोई जानकारी नहीं है, लेकिन वो चाहेंगे कि विधानसभा में मुनि का प्रवचन हो। सत्येंद्र जैन से मुलाकात के बाद जैन मुनि तरुण सागर ने एबीपी न्यूज से कहा है कि उन्हें कोई शिकायत नहीं है लेकिन उनको सम्मान देने वाले दुखी हैं।

क्या है मामला
जैन समुदाय के धार्मिक नेता तरुण सागर पर किए गए विशाल ददलानी के विवादस्पद ट्वीट से काफी बड़ा मुद्दा खड़ा हो गया है, जिसकी वजह से विशाल को कड़ी आलोचनाओं का सामना करना पड़ रहा है। दिगम्बर जैन समुदाय के जाने-माने मुनि तरुण सागर ने शुक्रवार को हरियाणा विधानसभा को संबोधित किया था। जैन मुनि के इस संबोधन के एक दिन बाद संगीतकार और आप समर्थक विशाल ने एक ट्वीट में तरुण सागर के भाषण का मजाक उड़ाया और उनके निर्वस्त्र होने के आधार पर विवादित टिप्पणी की। इसके कुछ समय बाद उन्होंने ट्वीट को हटा दिया था।

विवाद के पैदा होने के बाद ददलानी ने राजनीति से संन्यास का फैसला कर लिया। ददलानी ने रविवार को कहा कि उन्होंने स्वयं आम आदमी पार्टी (आप) को छोड़ा है। उन्होंने कहा कि वह आज भी पार्टी को अपने परिवार जैसी मानते हैं। अपने ट्वीट के जरिए विशाल ने बताया है कि पार्टी ने उन्हें जैन समुदाय के संत पर किए गए ट्वीट के कारण बाहर नहीं निकाला है, बल्कि उन्होंने खुद ही अलग होने का फैसला किया है।

बॉलीवुड में ‘आप के सबसे बड़े समर्थक माने जाने वाले विशाल ने कहा, “आप के खिलाफ काफी कुछ कहा जा रहा है क्योंकि मैंने पार्टी छोड़ने का फैसला लिया है. मैं सिर्फ इतना कहना चाहता हूं कि ‘आप मेरे परिवार की तरह है. कृपया अरविंद केजरीवाल और पार्टी पर अपना विश्वास बनाए रखें.”

ट्वीट में विशाल ने मांगी माफी
अपने एक अन्य ट्वीट में विशाल ने कहा, “मैं जैन समुदाय और जिस किसी का भी दिल दुखा है, उन सभी से एक बार फिर माफी मांगता हूं. लेकिन, मैं आप सबसे देश के हित में यह भी अपील करता हूं कि शासन में धर्म के दखल का समर्थन न करें.”

उन्होंने ट्वीट में कहा, “मुझे बेहद अफसोस है कि मैंने अपने जैन दोस्तों और अपने दोस्त केजरीवाल और सत्येंद्र जैन का दिल दुखाया. आज से मैं सभी राजनीतिक काम छोड़ता हूं. मेरा इरादा किसी को दुख पहुंचाना नहीं था. बिना सोच-समझे बोल गया.”
;

No comments:

Popular News This Week