छतरपुर में साइकल पर प्रसूता: ये मप्र की असली जननी एक्सप्रेस

Monday, August 29, 2016

;
छतरपुर। शिवराज सरकार भले ही कितने भी दावे कर ले परंतु साइकल ही मप्र की असली जननी एक्सप्रेस है। यहां एक बार फिर बुलाने के बावजूद ना तो 108 आई और ना ही जननी एक्सप्रेस। अंतत: पिता मजबूरन अपनी प्रसव पीड़ित बेटी को साइकल पर बिठाकर अस्पताल ले गया। खतरों से भरा 6 किलोमीटर लंबा सफर तय किया। 

रविवार को छतरपुर जिले के बकस्वाहा में जननी एक्सप्रेस के न पहुंचने पर पिता को साइकिल से प्रसूता बेटी को हॉस्पिटल ले जाना पड़ा। पाली की पार्वती पति महेश (26) मायके शहपुरा आई थी। प्रसव पीड़ा होने पर पिता नन्हेभाई ने जननी एक्सप्रेस के लिए फोन लगाया। पता चला एक माह से जननी बंद है। 108 पर फोन लगाने पर पता चला कि वह कहीं गई है। बेटी को पिता साइकिल पर 6 किमी का सफर तय कर हॉस्पिटल गए, जहां पार्वती ने पहले बेटे को जन्म दिया। अब बीएमओ ने कहते हैं कि कल से जननी सुरक्षा एक्सप्रेस शुरू हो जाएगी।

पिछले एक माह से क्षेत्र में ठेकेदार द्वारा जननी वाहन बंद कर दिया गया था। आज यह मामला सामने आया है। इस बात की जानकारी उच्चाधिकारियों को भी दे दी गई है, कल से ही जननी वाहन चालू कराया जाएगा। 
डॉ. एलएल अहिरवार, 
बीएमओ, सीएचसी बकस्वाहा
;

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

Popular News This Week