चेतावनी का बोर्ड भी डूबा, 18 पहियों वाला ट्रोला बह गया

Tuesday, August 9, 2016

विदिशा। पिछले 36 घंटे से बेतवा उफान पर है। रविवार सुबह पांच बजे से सोमवार शाम तक चरणतीर्थ पुल पर पानी ऊपर बह रहा है। विदिशा का अशोकनगर समेत आठ तहसीलों का संपर्क कटा हुआ है। वहीं रायसेन में भी बारना के गेट खुलने से बरेली के पास जयपुर-जबलपुर मार्ग बंद है।

तीन-चार दिन मिलेगी राहत, फिर बरसेगा पानी
मूसलाधार बारिश से तर हो रहे मप्र को तीन-चार दिन भारी बारिश से राहत मिल सकती है। इसके बाद फिर तेज बारिश का दौर शुरू हो सकता है। पिछले 24 घंटे में प्रदेश के 95 फीसदी इलाकों में बारिश हुई। उज्जैन से होशंगाबाद, सीहोर से गुना, भोपाल से रतलाम, जबलपुर से सतना तक सभी इलाके तर हुए। मौसम केंद्र ने मंगलवार को सीहोर, रायसेन, गुना, विदिशा, अशोकनगर में बारिश के लिए अलर्ट जारी किया है। प्रदेश में अब तक सामान्य से 36 फीसदी ज्यादा पानी बरस चुका है। भोपाल में अब तक की सामान्य से 89 फीसदी ज्यादा बारिश हो चुकी है।

बाढ़ में बह गया 18 पहियों वाला ट्रोला
गुना में भी गोपी सागर डेम के गेट खुल गए हैं। इससे गुना के 12 गांव के रास्ते बंद है। गुना-बमोरी रोड पर जिला मुख्यालय से करीब 35 किमी दूर भौंरा नदी में सोमवार को दोपहर 2 बजे अचानक आई बाढ़ में 18 पहियों वाला एक ट्रोला बह गया। बेतवा में पानी बढ़ने से 72 घंंटे से पग्नेश्वर पुल बाढ़ के पानी में डूबा हुआ है। देर शाम तक पुल पर 6 फीट पानी होना बताया गया है।

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

Trending

Popular News This Week