मप्र सरकार का घटिया चावल खाकर 12 छ़ात्राएं, 42 बालक बीमार

Wednesday, August 31, 2016

;
सुधीर ताम्रकार/बालाघाट। भोपाल समाचार लगातार उजागर कर रहा है कि मध्यप्रदेश में बंटने वाला सरकारी चावल ना केवल घटिया है बल्कि सड़ा हुआ है। जहरीला होता जा रहा है। यह कोई लापरवाही नहीं बल्कि एक बड़ा घोटाला है जो नागरिक आपूर्ति निगम के अधिकारियों समेत भाजपा नेता और भ्रष्ट राइस मिलर्स के गठजोड़ से किया जा रहा है। इसी चावल का शिकार आज बालाघाट एवं मण्डला जिले की सीमा पर स्थित मोतीनाला गांव के समीप ग्राम खंलौडी के बालिका छात्रावास की 12 छात्राएं हो गईं। छात्रावास में परोसे जा रहे इल्ली लगा हुआ सड़ा चावल खाने से बीमारी हो गई। वहीं माध्यमिक शाला एवं नवीन हाई स्कूल की 1 बालिका और 42 बालक अस्वस्थ हो गए। 

इसके कारण स्कूल में खलबली मच गई कल 30 अगस्त को लगभग 2 बजे घटित इस हादसे के बाद स्कूल प्रबंधन ने डाक्टरों को सूचना दी लेकिन जांच करने के लिये मौके पर कोई उपस्थित नही हुआ शिक्षा विभाग के अधिकारियो को अवगत कराया गया लेकिन वह भी मौके पर नही पहुचे।

घटना की सूचना मिलने पर राजस्व निरीक्षक नायब तहसीलदार मवई, हल्का पटवारी ग्राम सचिव पहुचे उन्होने घटना की जानकारी ली और ग्रामीणों के समक्ष पंचनामा करवाया। मौके पर छात्रावास में 12 बच्चे और स्कूल में 51 बालक बालिकायें अध्ययनरत थे वे सभी बीमार पाये गये शिक्षकों द्वारा गैरजिम्मेदार रवैया अपनाते हुये असंतोषजनक जवाब दिया की बच्चे बतायेगें तभी तो पता चलेगा की वे बीमार हैं।

पंचनामा कर रही टीम ने स्कूल छात्रावास में बन रहे भोजनालय की जांच की तो पाया वहां 5 कट्टी चांवल जिसमें इल्ली चल रही थी और उसमें से बदबू आ रही थी जिससे यह सिद्ध होता है कि छात्र-छात्राओं को ऐसा ही अमानक स्तर का सडा हुआ चांवल खिलाकर बच्चों के जीवन एवं स्वस्थ के साथ सिलवाड किया जा रहा है।

पंचनामा के दौरान प्राचार्य श्रीमति विमला उइके एवं उनका स्टाफ उपस्थित था। मौके पर पाये गये चांवल का सेंपल लिया गया जो जांच के लिये भेजा जायेगा। पंचनामें पर ग्राम पंचायत खलौडी के सचिव,छात्रावास के वार्डन प्रधान पाठिका, माध्यमिक शाला सहित अन्य व्यक्तिाओं ने हस्ताक्षर किये। 

यह उल्लेखनीय है कि जो चावल छात्रावास के भोजनालय में पाया गया वह नागरिक आपूर्ति निगम मण्डला के द्वारा मण्डला के राईस मिलर्स से खरीदा गया था। इस तरह नागरिक आपूर्ति निगम मण्डला एवं राईस मिलर्स की सांठगांठ से कस्टम मिलिंग की आड में अमानक और खाने के अयोग्य इल्ली लगा हुआ चांवल खरीदा गया उसे सार्वजनिक वितरण प्रणाली, मध्यान्न भोजन, आगन वाडियों में वितरित किया जा रहा है।

समूचे मण्डला जिले में ऐसे ही दुषित अमानक चांवल वितरित किये जाने की जानकारी मिली है इस सबंध में जिला कलेक्टर को पूर्व में अवगत कराया गया था लेकिन उनकी ओर से कोई कार्यवाही नही की गई।
;

No comments:

Popular News This Week