शिवराज के सीहोर में तिरपाल की आढ़ अंतिम संस्कार

Thursday, July 28, 2016

;

भोपाल। सीहोर, सीएम शिवराज सिंह चौहान का गृहजिला है। यहां की बुधनी विधानसभा सीट से वो विधायक चुने गए हैं। इसी क्षेत्र में उनका पूरा कुटुम्ब रहता है। मप्र में श्मशान घाटों के निर्माण और जीर्णोद्धार के लिए कई योजनाएं संचालित हैं, लेकिन हकीकत देखिए। सीएम के अपने गृहजिले में भी श्मशान घाट पर टीनशेड नहीं है।


यह बकतल गांव का श्मशान घाट है। यहां ग्रामीणों के बार-बार मांग करने के बाद भी बकतल गांव  चबूतरा और टीनशेड का निर्माण नहीं हो पाया है। शमशान घाट में टीनशेड और चबूतरा नहीं होने के कारण ग्रामीणों को बारिश के दौरान शव का अंतिम संस्कार करने के लिए काफी जद्दोजहद करनी पड़ती है। 

गीली लकड़ियों पर शव को रखने के बाद बड़े परिश्रम के बाद सुलगाया जाता है। ऐसे में बारिश हो गई तो...। इसलिए बरसते पानी से जलती हुई चिता को बचाने के लिए लोग घंटों तिरपाल हाथ में लिए खड़े रहते हैं। 
;

SHARE WITH YOU FRIENDS

-----------

Popular News This Week